Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / लखनऊ / लखनऊ में 21वें पुस्तक मेला पर एक प्रेसवार्ता, लोगों को इसका बेसब्री से इंतजार

लखनऊ में 21वें पुस्तक मेला पर एक प्रेसवार्ता, लोगों को इसका बेसब्री से इंतजार


-पांच मार्च से आरंभ होगा 21वां पुस्तक मेला, हर प्रकार की किताबों पर 10% की छूट–

-सुबह 11:00 बजे से रात 9:00 बजे तक चलने वाले इस पुस्तक मेले में कोई प्रवेश शुल्क नहीं लिया जाएगा–

-कोविड-19 का पालन करते हुए बिना मास्क के पुस्तक प्रेमियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा–

लखनऊ, 02 मार्च 2021, गोमती नगर स्थित शेरोज़ हैंगओवर में 05 मार्च से बाल संग्रहालय चारबाग में लगने वाले 21वें पुस्तक मेला के बारे में जानकारी देने के लिए मंगलवार को एक प्रेस वार्ता आयोजित की गई, जिसमें संयोजक मनोज सिंह चंदेल ने बताया कि 2003 से ये पुस्तक मेला नवाबों के शहर लखनऊ का एक अंग बन चुका है, कोरोना महामारी का प्रकोप कम होने के बाद लोगों को 21वें पुस्तक मेला का बेसब्री से इंतजार है, पिछले साल कोरोना के चलते 20वें पुस्तक मेला को स्थगित कर दिया गया था, 21वें पुस्तक मेला के उद्घाटन के लिए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने अपनी सहमति दे दी है, 21वें पुस्तक मेला की टीम इस बार आत्मनिर्भर भारत पर आधारित रहेगी, इस बार पुस्तक मेले का विशेष आकर्षण आष्टीकुंभ 21 होगा, पुस्तक मेला के निदेशक आकर्ष चंदेल ने प्रेस वार्ता में बताया की केंद्र और राज्य सरकारों ने कार्यक्रम के आयोजन के मानदंडों में डील के बाद ही मेले के खाके को तैयार किया गया है, हमेशा की तरह सुबह 11:00 बजे से रात 9:00 बजे तक चलने वाले इस पुस्तक मेले में इस बार भी कोई प्रवेश शुल्क नहीं लिया जाएगा, लेकिन कोविड-19 का पालन करते हुए बिना मास्क के पुस्तक प्रेमियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा और ये भी बताया कि महामारी के इस दौर में पिछले एक वर्ष में पुस्तक कारोबार को 26 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है इस नुकसान में 80 फीसद हिस्सा पाठ्यक्रम की शैक्षिक पुस्तकों का है, उन्होंने आज की आभासी दुनिया के लती होने के नुकसान उससे अलग पुस्तकों के कभी न खत्म होने वाले फायदों को गिनाते हुए कहा कि पुस्तकों को सबसे अच्छे दोस्त के रूप में जाना जाता है, और युगों से समाज के विकास में किताबें एक अहम भूमिका निभाती आ रही हैं, चंदेल ने बताया कि मेले में नेशनल बुक ट्रस्ट, राजकमल लोकभारती, वाणी प्रकाशन केंद्रीय, हिंदी निदेशालय, प्रकाशन विभाग उत्तर प्रदेश, हिंदी संस्थान ,हिंदी भाषा राष्ट्रीय परिषद, उर्दू भाषा, राष्ट्रीय परिषद, चिल्ड्रन बुक ट्रस्ट, श्री रामकृष्ण मिशन, तर्कसंगत विचार कैफे, ओसवाल पब्लिशर्स, सुल्तान चंद् प्रकाशन संस्थान, और कई अनेक प्रकाशक और वितरक पुस्तक मेले में भाग ले रहे हैं, स्थानीय लेखकों ने अपनी पुस्तकों के प्रदर्शन और बिक्री के लिए अलग से मुफ्त में स्टाल बुक कराए हैं, 07 मार्च से 13 मार्च तक चलने वाले विश्व ग्लूकोमा सप्ताह के अंतर्गत मेले में फ्यूचरिस्टिक विजन सेंटर के सहयोग से आंखों की जांच का फ्री शिविर लगाया जाएगा, ज्योति किरण ने बताया कि महिला दिवस पर महिलाओं के विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा ज्योति किरण ने यह भी बताया कि ओपन माइक सत्र प्रदर्शनी दशक शो इत्यादि भी आयोजित किए जाएंगे सांस्कृतिक मंच पर सांस्कृतिक और साहित्यिक कार्यक्रम लगातार 5 मार्च से 14 मार्च तक होते रहेंगे इस प्रेस वार्ता में विशाल श्रीवास्तव सह संस्थापक किरण फाउंडेशन और ऋषभ रस्तोगी मिशन लीडर शक्ति कम 21 भी उपस्थित रहे लखनऊ बुक फेयर के एसोसिएट प्रसार भारती, आकाशवाणी, रेडियो सिटी, मोतीलाल मेमोरियल सोसायटी, विजय स्टूडियो, ऑर्गेनिक इंडिया फाउंडेशन, फ्रिंजेस एक्सप्रेस, विश्वम फाउंडेशन ग्रुप टेक्नोलॉजी, और चौकामोर शामिल हैं।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी

About Janadhikar Media

Janadhikar Media

Check Also

लखनऊ में श्मशान हुए फुल तो दाह संस्कार के लिए ढूंढे नए स्थान, दो घाटों पर 173 चिताएं जलीं

🔊 पोस्ट को सुनें -लखनऊ में खदरा के बैरियर नंबर 2 के पास गोमती किनारे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Sharif Download Website Designer Freelance WordPress Developer All Lucknow Services Portal