Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / रायबरेली / शिक्षक विरोधी नीतियों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने आज 8 सितंबर को शिक्षण कार्य का बहिष्कार किया।

शिक्षक विरोधी नीतियों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने आज 8 सितंबर को शिक्षण कार्य का बहिष्कार किया।


शिक्षक विरोधी नीतियों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने आज 8 सितंबर को शिक्षण कार्य का बहिष्कार किया।

रायबरेली 

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ जिला इकाई रायबरेली ने प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर सरकार की शिक्षा व्यवस्था विरोधी दो पालियों में विद्यालय संचलान की नीति और शिक्षकों को सुबह 8:00 बजे से शायं 4:30 बजे तक ( 8:30 घंटे तक ) विद्यालय में उपस्थित रहने की नीति के विरोध में शिक्षण कार्य का बहिष्कार किया।
जिला अध्यक्ष अशोक कुमार शुक्ला के नेतृत्व में महात्मा गांधी इंटर कॉलेज में शिक्षकों ने एकजुटता का प्रदर्शन किया। यहां पर आशुतोष कुमार मिश्र, दिनेश कुमार, विमलेश अवस्थी, मंगल चरण रावत, शत्रुघन कुमार, उमाशंकर सिंह, धनंजय सिंह, हजूरीलाल, अतुल द्विवेदी, अशोक वर्मा, धर्मेश नारायण दीक्षित आदि शिक्षक सम्मिलित रहे। इसके अलावां डॉ हरगोविंद प्रसाद इंटर कॉलेज हरदासपुर में सूबेदार यादव और प्रेमलाल कुरील, हर नारायण इंटर कॉलेज ऊंचाहार में शिवेंद्र सिंह, शिव नारायण सिंह इंटर कॉलेज गौरा में बी पी सिंह, राजेंद्र प्रताप सिंह, मुन्ना लाल, राना बेनी माधव सिंह इंटर कॉलेज शंकरपुर में अभिनेश सिंह, जितेंद्र सिंह भदौरिया, देवी शंकर वर्मा, केशव कुमार सिंह, इंटर कॉलेज रौतापुर में जितेन्द्र बहादुर सिंह, बैसवारा इंटर कॉलेज में जिला मंत्री सोमेश सिंह आदि के नेतृत्व में शिक्षकों ने शिक्षक विरोधी नीतियों के खिलाफ शिक्षण कार्य का बहिष्कार किया। इस दौरान सभी शिक्षक विद्यालय में समय से उपस्थित हुए। उपस्थिति पंजिका में उपस्थिति दर्ज किया। तत्पश्चात एकजुट होकर शिक्षा विरोधी नीतियों को वापस लेने की मांग की।
उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश शासन द्वारा शिक्षा अधिनियमों के सर्वथा विपरीत जारी आदेश संख्या 1467 / 15- 07- 2020 -01 ( 52 ) /2021 के क्रम में दिनांक- 2 अगस्त से माध्यमिक विद्यालयों को दो पालियों में संचालित करने का शासनादेश निर्गत किया गया है। इस आदेश द्वारा सुबह 8:00 बजे से 12:00 बजे तक विद्यालय प्रथम पाली में संचालित होता है तथा दोपहर बाद 12:30 से 4:30 तक दूसरी पाली में विद्यालय संचालित होता है। इन दोनों पालियों में शिक्षकों को शिक्षण कार्य करना होता है। शिक्षकों को सुबह 8:00 बजे से शाम 4:30 बजे तक कुल 8 घंटे 30 मिनट विद्यालय में उपस्थित रहना पड़ता है। यह समय सारणी शिक्षा अधिनियमों के विपरीत है। शिक्षा अधिनियमों के महत्वपूर्ण अंश प्रस्तर 86 में स्पष्ट उल्लेख है कि मान्यता प्राप्त शासकीय अशासकीय एवं मान्यता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षण कार्य विश्रांति के समय को निकालकर अगस्त से मार्च तक 5 घंटे 20 मिनट का रहेगा। जबकि गर्मियों में अप्रैल, मई और जुलाई में विश्रांति काल को निकाल कर 4 घंटे 35 मिनट का रहेगा। इस प्रकार ग्रीष्म काल और शीतकाल में विद्यालय संचालन अलग अलग होता रहा है। इस प्रकार स्पष्ट है कि माध्यमिक शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों ने शिक्षा अधिनियम में महत्वपूर्ण अंशों की अनदेखी करते हुए विद्यालय संचालन में न केवल निर्धारित समय सीमा का अतिक्रमण किया है बल्कि दो पालियों के निषेध को भी नजरअंदाज किया है।यह जानकारी जिला उपाध्यक्ष एवं मीडिया प्रभारी सुनील दत्त ने दी। 

About Janadhikar Media

Janadhikar Media

Check Also

ग्राम पंचायत बैरीहार में ग्राम प्रधान करन बहादुर द्वारा कराया पंचायत भवन का जीर्णोद्धार

🔊 पोस्ट को सुनें ग्राम पंचायत बैरीहार में ग्राम प्रधान करन बहादुर द्वारा कराया पंचायत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Sharif Download Website Designer Freelance WordPress Developer All Lucknow Services Portal