Breaking News
Home / देश / महाराष्ट्र / अज्ञात वाहन की टक्कर में तेंदुए की मृत्यु

अज्ञात वाहन की टक्कर में तेंदुए की मृत्यु


अज्ञात वाहन की टक्कर में तेंदुए की मृत्यु

वरोरा के समीप नागपुर महामार्ग पर हुआ हादसा

2 शावको के साथ रह रही थी मादा

 

एक और जहां वन्यजीवों की दहशत की घटनाएं जिले के राजूरा ,ब्रह्मपुरी परिसर में सामने आ रही है तो दूसरी और वन्यजीवों की विविध कारणों से मौत के मामले के उजागर हो रहे हैं ।चिमूर में कुछ ही दिन पूर्व एक शावक की मौत का मामला सामने आया था कि बुधवार को वरोरा समीपस्थ नागपुर महामार्ग पर अज्ञात वाहन की टक्कर में एक तेंदुए की मौत होने की घटना सामने आई ।
नागपुर- चंद्रपुर महामार्ग के वीडियोकॉन कंपनी समीप हुए इस हादसे में एक अज्ञात वाहन ने सड़क पार करते हुए तेंदुए को टक्कर मार दी। इस हादसे में तेंदुए की मौत हो गई ।दुर्घटना मंगलवार की देर रात की है ।वन विभाग ने मृत तेंदुए को चंद्रपूर ले जाकर नियमानुसार उसका दहन संस्कार करने की तैयारी की है । इस बीच उसके 2 शावको का क्या होगा? इस पर सवाल बना हुआ है।
*2 शावकों के साथ रह रही थी मादा*
आनंदवन से सटा अधिकांश क्षेत्र बियावान झाड़ियों से भरा है। इसे झुड़पी जंगल के रूप में भी पहचाना जाता है। बीते 4 माह से इस तेंदुए का यहां अधिवास था वह अपने 2 शावको के साथ बियावान सहारा लेकर रह रही थी परिसर के नागरिकों के मवेशियों का शिकार कर वह अपना व शावको का गुजारा कर रही थी इसकी इस परिसर में दहशत फैली थी। किसानों का खेतों में जाना भी दुश्वार हो गया था।
*वन विभाग ने लगाए थे कैमरे* मादा तेंदुए की फैली दहशत से परेशान परिसर नागरिक और किसानों ने वन विभाग को ज्ञापन दिया था। इस दृष्टि से बनविभाग ने कैमरा टैप भी लगाए थे ।तेंदुए की तलाश करने के प्रयास भी वनबिभाग किए थे।
*शावकों के साथ बदल रही थी जगह*
नागरिकों की शिकायत व कुछ घटनाओं के बाद वन विभाग ने कैमरा टैप लगाकर इस तेंदुए को खोजने का प्रयास किया था। लेकिन तेंदुआ अपने शावकों को लेकर बार-बार जगह बदल रहा था।परिसर के येन्सा ,मजरा वीडियोकॉन परिसर में भ्रमण करने लगा।जिससे बनबिभाग को इस इस तेंदुए को पिजरे कैद करने सफलता नहीं मिली थी।

संवाददाता महाराष्ट्र
मुरली प्रसाद रघुनंदन की रिपोर्ट

About Janadhikar Media

Janadhikar Media

Check Also

आठ माह का खत्म हुआ इंतजार, खुले आस्था के द्वार

🔊 पोस्ट को सुनें आठ माह का खत्म हुआ इंतजार, खुले आस्था के द्वार श्रद्धालुओं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *