Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / कानपूर / कानपुर में हड़कंप-सरकारी बाल संरक्षण गृह में 57 लड़कियों को कोरोना, दो निकलीं प्रेग्‍नेंट, एक को एड्स

कानपुर में हड़कंप-सरकारी बाल संरक्षण गृह में 57 लड़कियों को कोरोना, दो निकलीं प्रेग्‍नेंट, एक को एड्स


-कानपुर में उस समय प्रशासन सकते में आ गया जब पता चला कि वहां सरकारी बाल संरक्षण गृह में करीब 57 लड़कियों में कोरोना संक्रमण है। इतना ही नहीं उनमें से दो गर्भवती हैं और एक को एड्स है–

-शेल्‍टर होम में कोरोना पॉजिटिव पाई गई इन लड़कियों में से दो नाब‍ालिग गर्भवती भी पाई गई हैं–

-बालिका गृह को पूरी तरह से सील कर दिया गया–

लखनऊ, 21 जून 2020, कानपुर के राजकीय बाल संरक्षण गृह में कोरोना संक्रमण की जांच के दौरान पता चला कि यहां रहने वाली दो लड़कियां गर्भवती हैं। इतना ही नहीं इन दो में से एक को एचआईवी है दूसरी हेपेटाइटिस सी से ग्रस्‍त है। इस जानकारी के बाद स्‍थानीय प्रशासन में हड़कंप मच गया है। कुछ दिन पहले राजकीय बाल संरक्षण गृह रहने वालों में कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद ये जांच की जा रही थी। राजकीय बाल संरक्षण गृह में 57 संवासिनियों में संक्रमण की पुष्टी हुई थी, संक्रमित बालिकाओं को जब कोविड-19 के इलाज के लिए रामा मेडिकल कॉलेज भेजा गया तो वहां जांच में पाया कि दो 17 साल की किशोरियां गर्भवती हैं। गर्भवती होने के साथ ही एक एचआईवी से और दूसरी हेपेटाइटिस सी के संक्रमण से भी ग्रसित है। दोनों गर्भवती किशोरियों को जज्चा-बच्चा हॉस्पिटल भेजा गया है। कोरोना के साथ एचआईवी और हेपेटाइटिस सी के संक्रमण होने के कारण स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं और भी बढ गई हैंं।

बालिका गृह को पूरी तरह से सील कर दिया गया..

स्वरूप नगर स्थित राजकीय बालिका गृह को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। बालिका गृह के स्टॉफ को क्‍वारंटीन कराया गया है। डॉक्टरों के पास दोनों किशारियों की किसी भी प्रकार की बैक हिस्ट्री नहीं है। डॉक्टरों ने दोनों गर्भवती किशोरियों की बैक हिस्ट्री को समझने के लिए अधिकारियों से संपर्क किया। अधिकारियों का कहना है कि दोनों किशोरियां कब बालिका गृह आईं और कब गर्भवती हुईं इसकी जानकारी नहीं है।

किशोरियों की बैक हिस्‍ट्री नहीं..

प्रशासन ने अब इस बालिका गृह को सील कर दिया है। साथ ही यहां के स्टाफ को क्वारंटाइन कर दिया गया है। डॉक्टरों ने गर्भवती लड़कियों के बारे में जब पुराने रिकॉर्ड के लिए संपर्क किया तो अधिकारियों के पास कुछ था ही नहीं। अधिकारियों का कहना है कि ये कब बालिक गृह आईं इसकी जानकारी नहीं है। जिला प्रोबेशन अधिकारी अजीत कुमार के मुताबिक राजकीय बालिका गृह को सील कर दिया गया है। सभी दस्तावेज बालिका गृह में हैं। दस्तावेज देखने के बाद ही पता चल सकेगा कि दोनों किशोरियां बालिका गृह कब आईं थीं। इसके साथ उनके गर्भवती होने के संबंध में तभी डिटेल मिल सकेगी।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी

About Janadhikar Media

Janadhikar Media

Check Also

आठ पुलिसकर्मियों का खौफनाक हत्यारा विकास दुबे 38 घंटे बाद भी फरार, तलाश में लगी पुलिस की सौ टीम

🔊 पोस्ट को सुनें –फरार विकास दुबे की तलाश में प्रदेश की सौ पुलिस टीमें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *